एल्युमीनियम उद्योग की सेवा में समर्पित      click here for English


Jawaharlal Nehru Aluminium Research Development and Design Centre, Nagpur जवाहरलाल नेहरू एल्युमीनियम अनुसंधान विकास एवं अभिकल्प केंद्र, नागपुर


Updated on 05/09/2017

newsletter-02-2017.pdf MOU between JNARDDC and Ministry of Mines.pdf

जे एन ए आर डी डी सी के बारे मेँ


जवाहर लाल नेहरू एल्युमिनियम अनुसंधान विकास एवं अभीकल्प केन्द्र (जे.एन.ए.आर.डी.डी.सी), नागपुर


जे.एन.ए.आर.डी.डी.सी. की स्थापना 1989 में खान मंत्रालय, भारत सरकार एवं यूएनडीपी के एक संयुक्त उद्यम द्वारा की गई थी. भारत में उभरते आधुनिक एल्यूमीनियम उद्योग के लिए प्रमुख अनुसंधान एवं विकास सहायता प्रणाली प्रदान करने के लिए इस केन्द्र की स्थापना, एक स्वायत्त निकाय एवं "सेंटर ऑफ एक्सीलेंस" के रूप में की गई थी.

 वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान विभाग (विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय), भारत सरकार के द्वारा इस केंद्र को एक वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान संगठन के रूप में मान्यता प्राप्त है. यह भारत में अपनी तरह का एकमात्र संस्थान है जो एक ही छत के नीचे बॉक्साइट से तैयार उत्पाद तक की प्रक्रिया के लिए अनुसंधान एवं विकास सेवा प्रदान करती है.

केंद्र का उद्देश्य देश और विदेशों में एल्यूमिना और एल्यूमीनियम मिश्र धातुओं सहित एल्यूमीनियम के उत्पादन के लिए उपलब्ध प्रौद्योगिकी को आत्मसात करना एवम बुनियादी इंजीनियरिंग प्रक्रिया और डाउनस्ट्रीम क्षेत्रों के लिए तकनीक विकसित करना है. केंद्र भारतीय एल्यूमीनियम उद्योगों में कार्यरत कर्मियों को प्रशिक्षण भी प्रदान करती है.

केंद्र प्राथमिक और द्वितीयक एल्यूमिनियम उत्पादकों के अनुसंधान एवं विकास आवश्यकताओं को पूरा करने में महत्वपूर्ण योगदान प्रदान करती है. अनुसंधान के मुख्य क्षेत्र है:- बॉक्साइट
की तकनीकी मूल्यांकन एवं उन्नयन, प्रक्रिया मॉडलिंग, ऊर्जा की खपत को कम करने एवं केंद्र ने एल्यूमीनियम उद्योग अवशेषों जैसे लाल मिट्टी, ड्रॉस तथा स्क्रैप के प्रभावी उपयोग द्वारा पर्यावरण प्रदूषण के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दिया है जिससे एल्यूमीनियम उद्योग और पूरे देश को फायदा होगा.


श्री नरेन्द्र सिंह तोमर

माननीय मन्त्री, खान मन्त्रालय, भारत सरकार


श्री हरिभाई पार्थिभाई चौधरी

माननीय राज्य मंत्री

जीएसटी सम्बन्धित

Brochure.pdf